सटीक

  • समय का सदुपयोग

    समय का सदुपयोगसमय, सफलता की कुंजी है। समय का चक्र अपनी गति से चल रहा है या यूं कहें कि भाग रहा है। अक्सर इधर-उधर कहीं न कहीं, किसी न किसी से ये सुनने को मिलता है कि क्या करें समय ही नही मिलता। वास्तव में हम निरंतर गतिमान समय के साथ कदम से कदम मिला कर चल ही नही पाते और पिछङ जाते हैं। समय जैसी मूल्यवान संपदा का भंडार होते हुए भी हम हमेशा उसकी कमी का रोना रोते रहते हैं क्योंकि हम इस अमूल्य समय को बिना सोचे समझे खर्च कर देते हैं।विकास की राह में समय की बरबादी ही सबसे बङा शत्रु है। एक बार हाँथ से निकला हुआ समय कभी वापस नही आता है। हमारा बहुमूल्य वर्तमान क्रमशः भूत बन जाता है जो कभी वापस नही आता। सत्य कहावत है कि बीता हुआ समय और बोले हुए शब्द कभी वापस नही आ सकते। सच ही तो है मित्रों, किसी भी काम को कल पर नही टालना चाहिए क्योंकि आज का कल पर और कल का काम

  • गधों की मौत बनकर आया चीन

    क्या आप सोच सकते हैं कि एक दिन जब आप नींद से जागें और आप के घर और शहर के सभी वाहन, गाड़ी गायब हो गए हों, या फिर उन के सभी पार्ट्स जैसे टायर इंजन निकल दिए गए हों। आप के लिए आने-जाने का कोई साधन न बचा हो। स्कूल जाना, ऑफिस के लिए समय पर पहुँचना , खाने पीने के सामान जुटाना सब दूभर हो जाए।जी हाँ, यह अकल्पनीय है परन्तु सत्य है।हाल ही में तंज़ानिया के ग्रामीण समुदाय में ठीक यही हुआ, लेकिन वे महँगे वाहन - कारें या मोटर गाड़ियां नहीं, बल्कि गधे थे।तंज़ानिया में ग्रामीणों ने एक सुबह उठ कर देखा कि उन के मेहनती कामकाजी पशु चोरी हो चुके हैं जिन्हें मार कर उनकी खाल निकली जा चुकी है।वो एक बहुत ही बहुत भयानक एवं वीभत्स दृश्य था। गधों के लिए एक भीषण दर्दनाक मौत दे दी गई थी।दरअसल चीन दुनिया भर में गधों की मौत बनकर सामने आया है। गधों की खाल का वैश्विक व्यापार,